PMASBY: प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है, समझें

PMASBY: प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है, समझें

PMASBY, हेलो दोस्तों स्वागत है आप सभी का आज के नए आर्टिकल में, आज के इस आर्टिकल में PMASBY: प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है, समझें इसके बारे में बताने वाले है, प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की लागत 64 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा है|

Pradhan Mantri Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वाराणसी में प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना को लांच कर दिया है। इसके तहत पूरे देश में स्वास्थ्य सेवाओं का इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जाएगा।

पीएमओ ने कहा कि पीएम आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना देश भर में स्वास्थ्य ढांचा मजबूत करने वाला एक देशव्यापी एवं सबसे बड़ी योजना है और यह राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अतिरिक्त होगा।

PMASBY: प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है, समझें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार (25 अक्टूबर) को वाराणसी में “प्रधानमंत्री आत्मानिर्भर स्वस्थ भारत योजना” की शुरुआत की है। पीएम आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन का शुभारंभ के मौके पर पीएम मोदी के साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे।

त योजना” की शुरुआत की है। पीएम आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन का शुभारंभ के मौके पर पीएम मोदी के साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे।

PMASBY: प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है,
PMASBY: प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है,

इस खास मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन स्वास्थ्य के साथ-साथ आर्थिक आत्मनिर्भरता का भी माध्यम है। आयुष्मान भारत योजना ने 2 करोड़ से अधिक गरीबों का अस्पताल में मुफ्त इलाज करवाया है।

पीएमओ ने कहा कि पांच लाख से अधिक की आबादी वाले देश के सभी जिलों में क्रिटिकल केयर केंद्रों की स्थापना की जाएगी। करीब 64,180 करोड़ रुपये की इस योजना से देश भर में स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार लाया जाएगा। योजना के तहत देश के सभी जिलों और 3,382 ब्लॉक्स में इंटीग्रेटेड पब्लिक हेल्थ लैब बनाए जाएंगे,

Name of Scheme Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana (PMASBY)
in Language आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना
Launched by Finance Minister Nirmala Sitharaman
Beneficiaries Citizens of India
Major Benefit Provides various health facilities all across India
Scheme Objective Developing Health Sector
Budget ₹ 64,180 crore

Pradhan Mantri Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana:

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना को हाल ही में कैबिनेट से मंजूरी मिली थी। प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का ऐलान इस साल 1 फरवरी को पेश किए गए बजट में किया गया था। अब इस योजना को कैबिनेट से मंजूरी दी गई है। योजना के मुताबिक देश के करीब 17,788 गांवों और 11,024 शहरी और कस्बाई इलाकों में वेलनेस सेंटर्स स्थापित किए जाएंगे

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के बारे में 10 बाते जाने 

1. प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की लागत 64 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा है. प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, ये भारत की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना होगी और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से अलग होगी |

2. प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के लिए 64 हजार करोड़ रुपये से अधिक लागत आएगी।

3.पीएमओ के मुताबिक, PMASBY के तहत चिन्हित किए गए 10 सबसे प्रमुख राज्यों के 17,788 ग्रामीण स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों की मदद की जाएगी. इसके साथ ही सभी राज्यों में 11,024 हेल्थ और वेलनेस सेंटर खोले जाएंगे.

4. पांच लाख से अधिक आबादी वाले देश के सभी जिलों में क्रिटिकल केयर सेवाएं एक्सक्लूसिव क्रिटिकल केयर अस्पताल ब्लॉक के माध्यम से उपलब्ध होंगी। जबकि शेष जिलों को रेफरल सेवाओं के माध्यम से कवर किया जाएगा।

5. योजना के तहत विशेष फोकस वाले 10 राज्यों में स्वास्थ्य सेवाओं का इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत करने पर खास जोर रहेगा।

6. देश भर में प्रयोगशालाओं के नेटवर्क के माध्यम से लोगों को सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली में नैदानिक ​​सेवाओं की पूरी सुविधा दी जाएगी।

7. इस योजना का मकसद 17 नई पब्लिक हेल्थ यूनिट का संचालन करना और एंट्री पॉइंट्स पर 33 मौजूदा पब्लिक हेल्थ यूनिट्स को मजबूत करना है|

8. प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के तहत वंचित, पिछड़े और जिन जिलों को अधिक जरूरत है, उनको वरीयता दी जाती है।

9. वन हेल्थ के लिए एक राष्ट्रीय संस्थान की स्थापना, डब्ल्यूएचओ के दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र के लिए एक क्षेत्रीय अनुसंधान प्लेटफॉर्म, 9 जैव-सुरक्षा स्तर-3 की प्रयोगशालाएं और 4 क्षेत्रीय राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान की स्थापना की जाएगी।

10. इसके अलावा इंटीग्रेटेड हेल्थ इन्फोर्मेशन पोर्टल से सभी राज्यों की सरकारी लैब को जोड़ा जाएगा |

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना से होने वाले फायदे:

PMASBY का लक्ष्य ब्लॉक, जिला, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर  आईटी आधारित रोग निगरानी प्रणाली विकसित करना है। जिसके तहत इन क्षेत्रों की प्रयोगशालाओं  (surveillance laboratories ) का एक नेटवर्क विकसित करना है। इसके लिए स्वास्थ्य इकाइयों को मजबूत करके, बीमारी का प्रभावी ढंग से पता लगाने, जांच करने,  रोग के प्रसार को रोकने और मुकाबला करने के लिए तैयार करना है।

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना (FAQ):

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना लांच डेट ?

सोमवार (25 अक्टूबर) 2021.

What is the Pradhan Mantri Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana ?

The aim of the PMASBY is to build an IT enabled disease surveillance system by developing a network of surveillance laboratories at block, district, regional and national levels, in metropolitan areas.

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का महत्व ?

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के जरिए देश भर में मेडिकल लैब्स को नेटवर्क के माध्यम से जोड़ा जायेगा। सार्वजानिक स्वास्थ्य सेवा को बेहतर करने के लिए नैदानिक सेवाओं की पहुंच को हर व्यक्ति तक आसानी से पहुंचाने का काम किया जायेगा।

इस योजना के तहत 10 राज्यों में 17,788 ग्रामीण और शहरी स्वास्थ्य और उपचार केंद्रों को सहयोग किया जाएगा। सभी राज्यों में 11,024 शहरी स्वास्थ्य व उपचार केंद्रों की स्थापना की जाएगी।

Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 की फंडिंग पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत 17000 ग्रामीण तथा 11000 शहरी हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर को समर्थन प्रदान किया जाएगा। योजना के अंतर्गत सभी जिलों के 3382 ब्लॉक में एकत्रित सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं की स्थापना की जाएगी।

Leave a Comment